newz fast

Jewar Airport के पास बसाए जाएंगे 10 नए सेक्टर, जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यमुना विकास प्राधिकरण ने बजट पारित होने के बाद नए सेक्टर बसाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है जिसमें एक साथ 10 नए सेक्टर बसाए जाएंगे इसके लिए जल्द ही जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होने वाली है. चलिए जानते हैं...
 | 
Jewar Airport के पास बसाए जाएंगे 10 नए सेक्टर

Newz Fast, New Delhi : यमुना विकास प्राधिकरण (यीडा) ने बजट पारित होने के बाद नए सेक्टर बसाने के लिए लैंड बैंक बनाने की तैयारी तेज कर दी है। सितंबर में जेवर एयरपोर्ट से उड़ान भरना प्रस्तावित है।

ऐसे में इसके आसपास सेक्टरों में भी औद्योगिक पार्क विकसित करने की योजना है। इससे पहले प्राधिकरण अधिग्रहण की तैयारी कर रहा है।

प्राधिकरण के अधिकारी ने बताया कि सेक्टर-10 में पांच नए औद्योगिक पार्क विकसित करने की तैयारी है। इनमें लेदर फुटवियर पार्क, सामान और सहायक उपकरण पार्क, प्लास्टिक प्रसंस्करण पार्क, हथकरघा और इलेक्ट्रिक वाहन पार्क विकसित किए जाएंगे। 

पांचों औद्योगिक पार्कों के लिए शासन से 243.9 हेक्टेयर भूमि के अधिग्रहण की स्वीकृति मिल चुकी है। इसके अलावा यहां सेमीकंडक्टर और इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण केंद्र होंगे, जिन्हें पहले लगभग 500 एकड़ भूमि पर विकसित करने की घोषणा की गई थी।

अब इन्हें सेक्टर-10 में 243 हेक्टेयर भूमि में विकसित किए जाने पर मंजूरी मिली है। इस परियोजना में 15,000 करोड़ रुपये का निवेश आने की उम्मीद है। यमुना प्राधिकरण क्षेत्र को विकसित करने के लिए अधिग्रहण की प्रक्रिया तेजी से बढ़ रही है। 

वर्ष 2022-23 में भूमि अधिग्रहण के लिए 695 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित था, जिसके सापेक्ष खर्च 640 करोड़ रुपये किया गया। वहीं, वर्ष 2023-24 में यह बजट बढ़कर 1851 करोड़ कर दिया गया,

जिसके सापेक्ष प्राधिकरण ने 1900 करोड़ रुपये खर्च किए। वहीं, इस वर्ष प्राधिकरण ने भूमि अधिग्रहण पर छह हजार करोड़ रुपये खर्च करने की योजना बनाई है।

इससे प्राधिकरण खुद का 3700 हेक्टेयर भूमि का लैंड बैंक तैयार कर सकेगा, ताकि जरूरत पड़ने पर रुकी परियोजनाओं को भूमि देकर काम शुरू कराया जा सके।

इस वर्ष जापानी व कोरियन सिटी बसाने का रास्ता भी साफ हो गया है। इसके लिए सेक्टर-4ए और 5ए में जमीन का अधिग्रहण किया जाना है।

यह डेडिकेटेड सिटी होगी, जिसमें जापानी और कोरियन कल्चर से जुड़े अस्पताल, मकान, दुकान और शिक्षण संस्थान होंगे। यह सोसाइटी एयरपोर्ट के नजदीक प्रस्तावित है।

यमुना विकास प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने कहा, 'लैंड बैंक के लिए भू-अधिग्रहण की प्रक्रिया को जल्द शुरू किया जाएगा।

प्राधिकरण आठ सेक्टरों में भूमि अधिग्रहण करेगा। इनमें नए औद्योगिक पार्क और आवासीय क्षेत्र विकसित किया जा सकेगा। परियोजनाओं को पूरा करने में बाधा नहीं आएगी।'

10 नए सेक्टर विकसित किए जाएंगे

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में छह जिलों के 1137 गांवों की जमीन अधिसूचित क्षेत्रफल में आती है। अगले 17 सालों में अधिकांश अधिसूचित क्षेत्रफल की जमीन अधिग्रहित करने का लक्ष्य रखा गया है।

प्राधिकरण ने अगले एक साल में 3700 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण करने का फैसला बोर्ड बैठक में किया है। जमीन एयरपोर्ट की जमीन से अलग है। 10 नए सेक्टर बसाने के लिए प्राधिकरण जमीन का अधिग्रहण करेगी।