newz fast

IRCTC: ये है दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, एक साथ खड़ी होती है 23 ट्रेनें, यात्री जल्दी से नहीं ढू़ंढ़ पाते है प्लेटफार्म

IRCTC: रेलवे स्टेशन तो आपने बहुत देखे होंगे लेकिन आज हम आपको दुनिया के सबसे बड़े रेलवे स्टेशन के बारे में बताने जा रहे है। जहां पर एक साथ 23 ट्रेनें खड़ी होती है। यहां पर यात्री जल्दी से सही प्लेटफॉर्म नहीं ढूंढ़ पाते है। आइए नीचे खबर में जानते है इस रेलवे स्टेशन के बारे में...  

 | 
ये है दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन, एक साथ खड़ी होती है 23 ट्रेनें,
Newz Fast, New Delhi: Railway Knowledge: विशाल नेटवर्क, हजारों ट्रेनें और करोड़ों मुसाफिर के चलते भारतीय रेलवे की चर्चा पूरी दुनिया में होती है. रेल नेटवर्क के मामले में भारत दुनिया में चौथे नंबर पर है, जबकि साइज़ के मामले में भारत सातवें नंबर पर. इसके अलावा भी भारतीय रेलवे अपनी कई खूबियों के लिए दुनियाभर में मशहूर है. भारत में दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन मौजूद है.

यही नहीं, यहां पर दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज का भी निर्माण किया जा रहा है, जिसकी ऊंचाई एफिल टॉवर से भी ज्यादा है. लेकिन, आज हम आपको देश के उस रेलवे स्टेशन से रूबरू कराने जा रहे हैं जहां सबसे ज्यादा प्लेटफॉर्म मौजूद हैं.

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस रेलवे स्टेशन से हर रोज एक जगह से दूसरे जगह के लिए हजारों लोग ट्रेन पकड़ते हैं. दिन-रात चौबीस घंटे भीड़ से भरे रहने वाले इस रेलवे स्टेशन से रोजाना 600 ट्रेनें गुजरती हैं.

अगर भारतीय रेलवे की बात करें तो कुल 7 हजार से अधिक स्टेशन हैं, जहां से 13 हजार से अधिक ट्रेनें गुजरती हैं. इसमें से कुछ रेलवे स्टेशन बड़े, तो कुछ रेलवे स्टेशन छोटे हैं.

इस राज्य में है देश का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन-

कोलकाता के लोगों के दिल बड़े हैं, उसी तरह राज्य के दिल में बसा रेलवे स्टेशन भी सबसे बड़ा है. इसका नाम है हावड़ा जंक्शन. हावड़ा जंक्शन देश का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है. यह पश्चिम बंगाल की राजधानी में है.

इसे देश का सबसे व्यस्त रेलवे स्टेशन भी कहा जाता है. इस रेलवे पर 10-15 नहीं पूरे 23 प्लेटफॉर्म हैं. यहां पर 26 रेल लाइन बिछी हुई हैं, जिससे रोजाना करीब 600 ट्रेनें गुजरती है. सबसे बड़ी बात है कि इसी जंक्शन से 1854 में देश की दूसरी रेलगाड़ी चली थी.

हुगली नदी के किनारे बसा है स्टेशन-

जंक्शन को देश के सबसे पुराने रेलवे स्टेशन होने का भी गौरव प्राप्त है. इस रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग का निर्माण वर्ष 1854 में किया गया था. यह स्टेशन हुगली नदी पर बने पुल के जरिए कोलकाता मेन सिटी से जुड़ता है.

देश के तकरीबन हर हिस्से के लिए यहां से ट्रेन पकड़ी जा सकती है. इस जंक्शन में एक ही वक्त में सबसे ज्यादा रेलगाड़ियों को खड़ा करने की क्षमता है.

दूसरे नंबर पर है ये स्टेशन-

कोलकाता में हावड़ा के साथ ही सियालदह नाम का एक और बड़ा रेलवे स्टेशन भी है. अगर दूसरे नंबर के सबसे ज्यादा प्लेटफॉर्म वाले स्टेशन की बात करें तो वो भी बंगाल का ही एक रेलवे स्टेशन है.

यह है सियालदह रेलवे स्टेशन. इस पर 20 प्लेटफॉर्म हैं. इस प्लेटफॉर्म को सबसे व्यस्त प्लेटफॉर्म भी कहा जाता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि इस प्लेटफॉर्म से हर रोज एक जगह से दूसरे जगह के लिए हजारों लोग ट्रेन पकड़ते हैं.