newz fast

Success Story: खूबसूरती में किसी भी एक्ट्रेस को देती है मात, नौकरी छोड़ बन गईं DSP

Success Story: बहुत से लोग आईएएस बनने का सपना देखते हैं। लेकिन इस सपने को पूरा करने के लिए यूपीएससी की परीक्षा को पास करना पड़ता है। लेकिन इसमें सफलता केवल चुनिंदा लोगों को ही मिलती है। आज आपको ऐसी महिला ऑफिसर के बारे में बताएंगे जिसने आईएएस बनने के लिए एयर होस्‍टेज की नौकरी छोड़ दी। आइए जानते हैं इनकी कहानी के बारे में...

 | 
Success Story: खूबसूरती में किसी भी एक्ट्रेस को देती है मात, नौकरी छोड़ बन गईं DSP

Newz Fast India, New Delhi: UPSC की परीक्षा को दुनिया की सबसे टफ परीक्षाओं में से एक माना जाता है। इसे पास करने का सपना तो हर कोई देखता है लेकिन इसे पास केवल चुनिंदा लोग ही कर पाते हैं। क्योकि इसे पास करने के लिए दिन रात मेहनत करनी पड़ती है। 

इसके साथ ही लगभग हर विषय का ज्ञान होना भी जरूरी है। इस परीक्षा को पास करने वालों में एक नाम नेहा पच्चीसिया का भी है, जो पहले एयर होस्‍टेज बनी।  उसके बाद उसका मन नहीं लगा, तो उसने सिविल सर्विसेज की तैयारी शुरू की और  डीएसपी बन गई। 

नेहा पच्चीसिया मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के पचोर की रहने वाली हैं।  वह बेहद ही सामान्य परिवार से आती हैं। उनके पिता शिक्षक हैं, और मां गृहिणी हैं। बता दें फ़िलहाल ये महिला अफसर  भोपाल पुलिस मुख्यालय में डीएसपी के पद पर तैनात हैं।

उन्होंने मेहनत के दम पर कुछ ही प्रयास में पीएससी परीक्षा निकाल ली, वह भी 20वीं रैंक के साथ। इसके बाद उन्होंने राज्य पुलिस सेवा ज्वाइन की।  वह जहां भी गईं,

वहां उनके काम की लोगों ने तारीफ की। खासकर की कोरोना महामारी के दौरान उन्होंने अलग-अलग तरीकों से लोगों को मोटिवेट करने का काम किया 

बता दें नेहा बचपन से  ही पढ़ाई में चतुर रही हैं।  उन्होंने 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद एविएशन में डिप्लोमा किया।  इसके बाद उन्होंने बतौर एयर होस्टेस कुछ सालों तक काम किया।

इस दौरान उन्हें विदेश से भी नौकरी के ऑफर मिले। लेकिन नेहा अपनी जॉब से संतुष्ट नहीं थीं, इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ी और राज्य सेवा परीक्षा की तैयारी में जुट गईं 

जानकारी के अनुसार जब वह गुना में पदस्थ थीं तो अपने उच्च स्तर के अधिकारियों से भिड़ गई थीं, जिस कारण से उनका तबादला भी कर दिया गया था। बता दें सख्त मिजाज और कड़क तेवर के लिए नेहा पच्चीसिया को लोग 'लेडी सिंघम' कहकर भी पुकारते हैं।