newz fast

Success Story: कचरा समझे जाने वाले नारियल के खोल से शुरु किया कारोबार, आज करोड़ों में है कमाई

Success Story: आप जिन चीजों को कचरा समझ कर फेंक देते हैं वे चीजें आपके बहुत काम आ सकती है। आज जिस महिला की सफलता की कहानी के बारे में हम आपको बताने वाले हैं उस महिला ने नारियल के छिलकों से खुद का करोड़ों का कारोबार खड़ा किया है। आज महिला का ये कारोबार पूरे देश में फैला है। 
 | 
Success Story: कचरा समझे जाने वाले नारियल के खोल से शुरु किया कारोबार, आज करोड़ों में है कमाई 

Newz Fast, New Delhi: जिंदगी में कामयाब होने के लिए दूसरों से अलग सोचना जरूरी होता है। कई बार छोटी सी शुरुआत से भी बड़ा बिजनेस खड़ा किया जा सकता है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है केरल की रहने वाली मारिया कुरियाकोस (Maria Kuriakose) ने। 

जिस नारियल के खोल को लोग बेकार समझकर फेंक देते हैं, उसी से मारिया (Maria Kuriakose) ने करोड़ों रुपयों का बिजनेस खड़ा कर दिया है। वह हर महीने लाखों रुपये कमा रही हैं। अब मारिया को देश के साथ विदेशों से भी ऑर्डर मिलने लगे हैं। 

मारिया का बिजनेस लगातार आगे बढ़ रहा है। आईए आपको बताते हैं मारिया ने किस तरह से बेकार समझी जाने वाली चीज का इस्तेमाल करके इतना बड़ा बिजनेस बना लिया है। आज वह अपने इस बिजनेस के जरिए बहुत से लोगों को रोजगार भी दे रही हैं।

नौकरी छोड़ शुरू किया बिजनेस -

केरल के त्रिशूर की रहनेवाली मारिया कुरियाकोस मुंबई में नौकरी करती थी। लेकिन साल 2019 में उन्होंने नौकरी छोड़ दी और खुद का बिजनेस शुरू करने का निर्णय लिया। 26 वर्षीय मारिया ने, साल 2017 में बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स करने के बाद, एक कॉर्पोरेट कंपनी के साथ काम किया। 

मारिया जब साल 2020 में केरल में रिसर्च कर रही थी तो उन्होंने देखा कि नारियल से तेल और कई चीज बनाई जा रही हैं, लेकिन नारियल के तेल के लिए उसका फल लेने के बाद उसका खोल फेंक दिया जाता है। इसके बाद मारिया ने नारियल के खोल से किचन और सजावटी सामान बनाने का काम शुरू किया।

ऐसे मिली सफलता -

मारिया का स्‍टार्टअप थेंगा (Thenga) नारियल के खोल से घरों में इस्‍तेमाल होने वाले खास प्रोडक्‍ट बनाता है। ये प्रोडक्ट पर्यावरण के लिए अनुकूल होने के साथ-साथ बहुत खूबसूरत भी हैं। 

यही कारण है चार साल में ही थेंगा के प्रोडक्‍ट्स की बिक्री खूब बढ़ गई है। अब हर साल मारिया एक करोड़ के प्रोडक्‍ट बेचती हैं। नारियल के खोल से बने उत्‍पाद लकड़ी के बने प्रोडक्‍ट की तरह दिखते हैं।

ये टिकाऊ तो होते ही हैं साथ ही ये दिखने में सुन्दर भी होते हैं। इनको बनाने में किसी भी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता। प्रोडक्ट में चमक के लिए कोकोनट ऑयल से ही घिसाई की जाती है।

लोगों को दिया रोजगार -

आज मारिया के साथ काम से कम 40 लोग काम कर रहे हैं। कोई भी ऑर्डर आने पर उन्होंने अलग-अलग आर्टिजन के साथ मिलकर बड़े ऑर्डर को भी जल्द पूरा कर सकती हैं। मारिया के इस कदम से स्थानीय आर्टिजन को भी काम मिला और उन्हें उनकी आमदनी बढ़ाने में मदद मिल रही है।