newz fast

हरियाणा एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने उत्तर प्रदेश पुलिस में कार्यरत एक कांस्टेबल को 50000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार

आए दिन ऑफिसर रिश्वत लेन के मामले आते रहते है. इसी को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है जिसमें यूपी पुलिस में कार्यरत एक कांस्टेबल को रिश्वत लेते हरियाणा एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रंगे हाथों पकड़ा है. आइए जानते है नीचे खबर में पूरा मामला...
 | 
हरियाणा एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने उत्तर प्रदेश पुलिस में कार्यरत एक कांस्टेबल को 50000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार
Newz Fast,New Delhi :-  इस मामले में उत्तर प्रदेश के एक अन्य कांस्टेबल की भी संलिप्तता होनी पाई गई है, जिस पर एसीबी करनाल पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया गया

- आरोपियों ने शिकायतकर्ता की धर्मपत्नी का नाम उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे में शामिल न करने की बदले में की थी रिश्वत की मांग

चंडीगढ़, 8 मार्च। हरियाणा एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने आज हरियाणा प्रदेश के बाहर रेड डालते हुए उत्तर प्रदेश के जिला सोनभद्र के रॉबर्ट गंज पुलिस थाने में तैनात कांस्टेबल को ₹50000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

इस मामले में एक अन्य कांस्टेबल भी शामिल होना पाया गया है जिसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। दोनों आरोपियों के खिलाफ करनाल स्थित एंटी करप्शन ब्यूरो के पुलिस थानों में एफआईआर दर्ज करते हुए कार्यवाही की जा रही है।

क्या था मामला- 

शिकायतकर्ता करनाल जिला का स्थानीय निवासी है। शिकायतकर्ता द्वारा पिछले दिनों जिला करनाल के ही एक व्यक्ति को गाड़ी बेची गई थी। गाड़ी बेचने संबंधी एफिडेविट भी उसे दिया गया था। गाड़ी शिकायतकर्ता की धर्मपत्नी के नाम पर थी।

गाड़ी बेचने के कुछ दिन बाद वह गाड़ी नशीले पदार्थ की तस्करी करते हुए उत्तर प्रदेश में सोनभद्र जिला में पकड़ी गई। जिसे लेकर रॉबर्टगंज थाने में एनडीपीएस एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।

जांच पड़ताल में पुलिस स्टेशन चोपन के दो कांस्टेबलो नामतः मनजीत तथा सुनील ने शिकायतकर्ता की पत्नी का नाम एफआईआर में दर्ज न करने के बदले में ₹100000 की रिश्वत की मांग की। इस दौरान आरोपियों द्वारा बताया गया कि यह रिश्वत उच्च अधिकारियो को दी जानी है। मामले की पुष्टि करते हुए एंटी करप्शन ब्यूरो करनाल की टीम में आरोपियों को पकड़ने की योजना बनाई।

कांस्टेबल मनजीत रिश्वत की राशि लेने के लिए करनाल जिला आया था जहां एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने उसे ₹50000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह पूरी कार्रवाई गवाहों के समक्ष पूरी पारदर्शिता बरतते हुए की गई। इस मामले में सभी आवश्यक सबूत जुटाते हुए इसकी जांच पड़ताल की जा रही है।

ब्यूरो के प्रवक्ता ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि यदि कोई भी अधिकारी अथवा कर्मचारी सरकारी काम करने की एवज में रिश्वत की मांग करता है तो तुरंत इसकी जानकारी हरियाणा एंटी करप्शन ब्यूरो के टोल फ्री नंबर -1800-180-2022 तथा 1064 पर देना सुनिश्चित करें।