newz fast

UP News : यूपी के सरकारी कर्मचारियों को योगी सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, महंगाई भत्ता बढ़ाने का आदेश जारी

UP News : उत्तर प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों के लिए आई बड़ी खुशखबरी दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने होली के खास अवसर पर कर्मचारियों को महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का तोहफा देने का फैसला किया है. चलिए जानते हैं खबर को विस्तार से...
 | 
यूपी के सरकारी कर्मचारियों को योगी सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

Newz Fast, New Delhi : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के राज्य कर्मचारियों को होली का गिफ्ट दिया है। महंगाई भत्ते में चार फीसदी वृद्धि पर सहमति दे दी है। इसका आदेश जारी हो गया है।

इससे 16 लाख राज्यकर्मियों को फायदा होगा। इस बढ़ोतरी के बाद राज्य कर्मचारियों को अब 46 की बजाय 50 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता मिलेगा। यह आदेश एक जनवरी 2024 से प्रभावी होगा। 

अपर मुख्य सचिव वित्त दीपक कुमार ने महंगाई भत्ते में वृद्धि का आदेश मंगलवार को जारी किया। इस वृद्धि का लाभ राज्य कर्मचारियों,

सहायता प्राप्त शिक्षण एवं प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं, शहरी स्थानीय निकायों के नियमित व पूर्णकालिक कर्मचारियों, कार्य प्रभारित कर्मचारियों और यूजीसी वेतनमान में पदधारकों को मिलेगा। 

पेंशनरों के लिए आदेश जल्द

अप्रैल माह से हर महीने महंगाई भत्ते के भुगतान पर सरकार के खजाने पर 215 करोड़ रुपये का भार आएगा। मार्च का व्ययभार 473 करोड़ रुपये आएगा। बताया जाता है कि सरकार की तरफ से जल्द ही पेंशनरों की महंगाई राहत में चार फीसदी वृद्धि का आदेश जारी कर दिया जाएगा। 

जनवरी और फरवरी का एरियर पीएफ खाते में 

महंगाई भत्ते का नकद भुगतान कर्मचारियों को मार्च महीने के वेतन (जो अप्रैल में मिलेगा) के साथ होने लगेगा। एक जनवरी से 29 फरवरी तक की देय अवशेष धनराशि अधिकारियों,

कर्मचारियों के भविष्य निधि खाते में जमा की जाएगी जो कार्मिक पीएफ खाते के सदस्य नहीं हैं, उनके पीपीएफ खाते में धनराशि जमा की जाएगी अथवा एनएससी के रूप में दी जाएगी। 

एनपीएस कार्मिकों का एरियर पीपीएफ व पेंशन खाते में

राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) से आच्छादित अधिकारियों, कर्मचारियों को देय महंगाई भत्ते की अवशेष धनराशि के 10 फीसदी के बराबर राशि कर्मचारियों के टियर-एक पेंशन खाते में जमा की जाएगी।

राज्य सरकार द्वारा भी टियर एक खाते में 14 फीसदी धनराशि जमा की जाएगी। अवशेष 90 फीसदी धनराशि कार्मिक के पब्लिक प्राविडेंट फंड (पीपीएफ) में जमा की जाएगी अथवा एनएससी के रूप में दी जाएगी।

इन्हें पूरी धनराशि नकद दी जाएगी

जिन अधिकारियों, कर्मचारियों की सेवाएं इस शासनादेश के जारी होने की तिथि से पूर्व समाप्त हो गई है अथवा जो छह माह के अंदर सेवानिवृत्त होने वाले हैं, उनको देय महंगाई भत्ते के बकाये की पूरी धनराशि का भुगतान नकद किया जाएगा।